Kaan Dard Ka Ilaj Upay In Hindi बेहतरीन घरेलू उपाय

448
kaan-dard
kaan-dard

दोस्तों हम इस लेख में जानेंगे की । यानि की Kaan Dard का बेहतरीन घरेलू उपाय। कान दर्द होना काफी दुखद समस्या होती है। ज्यादातर यह समस्या कान के अन्दर इन्फेक्शन के कारण होती है। कान दर्द होने के अन्य कारण हैं – जुकाम होना, कान में मैल जमना, नाक की नली में रुकावट होना, कान के अन्दर फिजिकल डैमेज होना और किसी कारण वश कान में प्रेशर बढ़ना।आज हम आपको हैंल्थ से जुडी कुछ जानकारी बताने वाले हैं। घरेलु उपचार स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। और इनके कोई दुसरे गलत परिणाम भी नहीं होते हैं। साथ ही इन्हें आसानी से किया जा सकता हैं।

नमस्कार दोस्तो आप सब का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। यहां पर बिज़नेस ,हेल्थ ,फाइनेंस ,हिंदी essay ,तकनीक और इंटरनेट से जुडी जानकारी शेयर करते रहते हैं। अगर आप उन्हे मिस नहीं करना चाहते तो हमारे ब्लॉग की notification को bell icon दबाकर subscribe कर लें।

kaan-dard
kaan-dard

Kaan Dard का लक्षण :-

  • कान में दर्द महसूस होना
  • सुनाई देने में परेशानी
  • कान में खुजली का होना
  • सर दर्द होना
  • बार-बार कान का सुन्न होना

Kaan Dard के कारण :-

  • कान के अन्दर इन्फेक्शन के कारण
  • मैल जमना
  • नाक की नली में रुकावट होना
  • कान के अन्दर फिजिकल डैमेज होना
  • जुकाम होना
  • किसी कीड़े का चले जाना
  • कान की ठीक तरह से सफाई नहीं करने के कारण

In Hindi :-

कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप कान दर्द को घर पर ही ठीक कर सकते हैं। कई बार ये दर्द अचानक रात को होने लगता है। ऐसे समय में घर में ही इलाज करें जो आपको तुरंत आराम देगा।

ओलिव आयल :-

ओलिव आयल कान दर्द में तुरंत राहत प्रदान कर सकता है। यह लुब्रिकेंट की तरह काम करता है। और कान के इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करता है। साथ ही, यह कान में झंझानाह्त को ठीक करने में भी मदद करता है।

लहसुन :-

लहसुन में कुदरती एंटीबायोटीक होती है। इससे कान में मौजूद इन्फेक्शन दूर होता है। यह बहुत जल्द कान का दर्द दूर करता हैं। एक चम्मच पिसे हुए लहसुन को तीन चम्मच सरसो के तेल में गर्म करें। अब इस तेल को ठंडा होने दें और छान लें। अब इस तेल की 2-3 बूंदों को कान में डाल लें।या लहसुन की कुछ कलियों का रस निकालकर कान में डाल सकते हैं।

Kaan Dard Ka Ilaj प्याज :-

प्याज एन्तिबैक्टेरिया व एंटीसेप्टिक होने के कारण कान दर्द में असरदार होती है। प्याज का 1 चम्मच रस निकाल लें और हलकी आंच में गर्म करें। अब इस जूस की 2-3 बूंदों को अपने दर्द वाले कान में डाल लें। एक साफ कपड़े में कटी हुई प्याज को बाँध लें। अब इस कपड़े को अपने कान पर 5-10 मिनट के लिए रखें।

गर्म पानी :-

इन्फेक्टेड कान के आसपास गर्मी पैदा करने से दर्द कम करने में काफी मदद मिलती है। एक बोतल में गर्म पानी भरें। अब इसे टोवल में लपेटकर कुछ मिनट के लिए कान पर रखे लें।

तुलसी :-

तुलसी में एंटीबैक्टीरियल ,एंटी-इन्फ्लामेट्री और एनाल्जेसिक गुण होते हैं । तुलसी की ताज़ी पत्ती का रस निकालें। इसकी कुछ बूंदे कान में डालें। ऐसा दिन में दो-तीन बार करें।

नीम :-

नीम की कुछ पत्तियों को पीसकर जूस निकाल लें। इस जूस की कुछ बूंदें कान में डाल लें।या फिर, एक रुई के टुकड़े को नीम आयल में भिगोकर कान में लगा लें। कुछ मिनट बाद इसे निकाल लें।कान में होने वाले दर्द, इन्फेक्शन को यह झट से दूर कर देता है।

मेथी :-

मेथी के दाने तेल में डालकर गर्म कर लें। अब इसे ठंडा होने दें। ठंडा होने के पश्चात् छानकर कान में डालें। दर्द में तुरंत आराम मिल जाएगा।

आम :-

आम के पत्तों को पीसकर उनका रस निकाल लें। अब इस रस को हल्का गुनगुना कर लें। सहने योग्य रहने पर इसकी 2-3ल बूंद कान में डालें। दर्द में आराम मिल जाएगा।

ब्राण्डी :-

सर्दी के कारण कान में भयंकर दर्द हो तो ब्राण्डी की एक या दो बूंद डालने से भी कान का दर्द ठीक हो जाता है।

अजवाइन का तेल :-

अजवाइन और सरसों का तेल मिलाकर डालने से कान दर्द से छुटकारा मिलता है।

प्याज :-

प्याज को पीसकर पेस्ट बना लें। इसे एक पतले साफ कपड़े में रखकर पोटली की तरह बाँध दे। इस पोटली को कान पर रखकर करवट लेकर लेटने से कान के दर्द में आराम मिलता हैं।

Conclusion :-

दोस्तो आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद करते हैं की आपको हमारा लेख पसंद आया होगा। जिसमे हमने आपको बताया है की Kaan Dard Ka Ilaj Upay In Hindi बेहतरीन घरेलू उपाय। इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। कुछ पूछना हो तो comments में पूछ सकते हैं। इस तरह की और updates के लिए आप notification subscribe कर सकते है।

अन्य लिंक्स :-

Sardi Jukham ke Liye Gharelu upchar बेस्‍ट हैं ये 5 घरेलू नुस्‍खे

Telegram Group or Channel me kya antr hai?

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here