Haldi (Turmeric) Ke Fayde aur Upyog In Hindi । हल्दी के फायदे एवम उपयोग

274
haldi-turmeric-fayde-upyog-hindi
haldi-turmeric-fayde-upyog-hindi

दोस्तों हम इस लेख में जानेंगे की (Turmeric) Ke Fayde aur Upyog In Hindi । यानि की जानिए । हल्दी में एन्तिबैक्टेरिया, एन्तिफंगल तत्व होते है। इसमें प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, विटामिन के, पोटाशियम, कैल्सियम, कॉपर, आयरन, मैग्नीशियम व जिंक होता हैं।हल्दी स्वाद के अलावा स्वास्थ की द्रष्टि से भी बहुत अच्छी होती है।इस लेख में हम आपको हल्दी के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से बता रहे हैं। तो यह पोस्ट आपके लिए काफी helpful होने वाली है। तो चले आज का लेख शुरू करते हैं।

नमस्कार दोस्तो आप सब का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। यहां पर बिज़नेस ,हेल्थ ,फाइनेंस ,हिंदी essay ,तकनीक और इंटरनेट से जुडी जानकारी शेयर करते रहते हैं। अगर आप उन्हे मिस नहीं करना चाहते तो हमारे ब्लॉग की notification को bell icon दबाकर subscribe कर लें।

हल्दी क्या है ? :-

हल्दी एक वनस्पति है। इसे हिंदी में हल्दी और अंग्रेजी में टर्मेरिक कहा जाता है। कच्ची हल्दी बिलकुल अदरक की तरह ही दिखती है।प्राकृतिक रूप से इसका रंग पीला होता है। खाने के अलावा कई तरह की बीमारियों से बचाव में भी हल्दी का उपयोग होता है। इस समय पूरी दुनिया में हल्दी के गुणों पर रिसर्च चल रहे हैं। इसका वैज्ञानिक नाम करकुमा लोंगा (Curcuma longa) है। इसका इस्तेमाल मसालों के रुप में प्रमुखता से किया जाता है। हिंदू धर्म में पूजा में या कोई भी शुभ काम करते समय हल्दी का उपयोग किया जाता है। इसमें उड़नशील तेल 5.8 प्रतिशत, प्रोटीन 6.3 प्रतिशत, द्रव्य 5.1 प्रतिशत, खनिज द्रव्य 3.5 प्रतिशत, और कार्बोहाइड्रेट 68.4 प्रतिशत होता हैं।

हल्दी के फायदे एवम उपयोग () :-

2 से 3 ग्राम हल्दी पाउडर का रोजाना सेवन करना सेहत के लिए उपयुक्त माना जाता है। यद्यपि अगर आप किसी ख़ास बीमारी के लिए हल्दी का उपयोग करना चाहते हैं तो आयुर्वेदिक चिकित्सीय परामर्श जरूर ले।

चोट को ठीक करने के लिए :-

हल्दी का प्रयोग आमतौर पर खून के रिसाव को रोकने या चोट को ठीक करने के लिए किया जाता है। यह तो सभी जानते हैं कि गुम चोट लगने पर पिसी हल्दी को गर्म दूध में मिलाकर सेवन करना चाहिए। कई बार हाथ-पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है। आमतौर पर हल्दी का सेवन दूध में मिलाकर ही किया जाता है। हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण होते हैं। वहीं दूध में मौजूद कैल्शियम हल्दी के साथ मिलकर शरीर को फायदा पहुंचाता है। हल्दी को चूने में मिलाकर गुम चोट में लगाने से यह दर्द को खींच देती है।

प्रतिरोधक (Immunity)क्षमता बढ़ाये :-

हल्दी में मौजूद एन्तिबैक्टेरिया, एन्तिफंगल तत्व शरीर में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते है। यह हमे सर्दी खांसी जुखाम फ्लू से बचा के रखता है। इसके लिए 1 गिलास गर्म दूध में 1 चम्मच हल्दी डाल कर पीना चाहिए। सर्दी के दिनों में इसे रोज रात को सोने से पहले पियें। इससे शरीर में सर्दी तो जाएगी साथ ही छोटे मोटे दर्द से भी आराम मिलेगा।

कैंसर बीमारी की रोकथाम Haldi:-

कच्ची हल्दी में कैंसर से लड़ने के गुण होते हैं। यह पुरुषों में होने वाले प्रोस्टेट कैंसर की कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकने के साथ-साथ उन्हें समाप्त भी करती है। हल्दी में उपस्थित तत्व कैंसर कोशिकाओं से डी.एन.ए. को होने वाले नुकसान को रोकते हैं। और कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों को भी कम करते हैं।

पायरिया की समस्या Haldi:-

पायरिया की समस्या होने पर हल्दी का सेवन बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके लिए थोड़ा सा सरसों का तेल ,नमक और हल्दी का पेस्ट बनाकर सुबह शाम लगाने से मसूड़ों के सब प्रकार के रोगों से दूर हो जाते हैं !

हड्डियों के रोग में आराम :-

हड्डियों के विभिन्न रोग, गठिया, वात दूर करने में भी हल्दी अत्यन्त महत्त्वपूर्ण होती है। रोजाना हल्दी मिश्रित दूध पीने से शरीर को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिलता है। यह ऑस्टियोपोरोसिस के मरीजों को राहत पहुँचाता है। गठिया के कारण उत्पन्न सूजन के उपचार में भी हल्दी का प्रयोग किया जाता है।

मधुमेह के उपचार में Haldi:-

कच्ची हल्दी में इन्सुलिन के स्तर को संतुलित करने का गुण होता है।खून में ब्लड शुगर बढ़ने पर हल्दी वाले दूध का सेवन फायदेमंद रहता है। दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शुगर लेवल कम होता है। लेकिन हल्दी का ज्यादा सेवन ब्लड शुगर की निर्धारित मात्रा को भी कम कर सकता हैं।

झुर्रियां :-

हल्दी में पाए जाने वाले करक्यूमिन में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। जो शरीर से फ्री रेडिकल्स को खत्म करते हैं। कुछ हद तक ये फ्री रेडिकल्स चेहर पर झुर्रियों का कारण बनते हैं। हल्दी को योगर्ट के साथ मिलाकर लगाने से झुर्रियां कम होती है।

कान से पस आने पर :-

हल्दी को बारीक पीसकर सरसों के शुद्ध तेल में मिलाकर गर्म कर शीशी भर लें।और दिन में 2-3 बार कान में डालें तथा तीली पर रूई लगाकर पस निकाल लें। इस क्रिया को 15 दिन तक करने से लाभ मिलता है।

कोलेस्ट्रोल कम करे :-

हल्दी खाने से कोलेस्ट्रोल की मात्रा बहुत हद तक कम होती है। ये हम सब को पता है कि शरीर में अगर कोलेस्ट्रोल बढ़ता है। तो अन्य बहुत सी बीमारियाँ भी पीछे पीछे आ जाती है।

बवासीर से आराम :-

बवासीर से आराम पाने के लिए सरसों के तेल में हल्दी पाउडर को मिलाकर मस्सों पर लगाने से बवासीर में आराम मिलता है!

सुंदरता के लिए :-

हल्दी सौदर्य की द्रष्टि से बहुत गुणकारी होती है। इसका उबटन लगाने से दाग डब्बे दूर होते है ,चेहरा खिल उठता है। शादी के समय हल्दी की एक अलग से रस्म होती है। जिसमें दुल्हन व दुल्हे को हल्दी लगाई जाती है ,जिससे उनका चेहरा चमक उठे। हल्दी को बेसन दूध के साथ मिलाकर लगाने से बहुत फायदा मिलता है। हिंदू धर्म में पूजा में ,विवाह या कोई भी शुभ काम करते समय हल्दी का उपयोग किया जाता है।

Conclusion :-

दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हमने Haldi (Turmeric) Ke Fayde aur Upyog In Hindi । हल्दी के फायदे एवम उपयोग के बारे में हमने पूरे डिटेल्स में बात किया है। मुझे उम्मीद है आपको आज के इस आर्टिकल से काफी कुछ सीखने हो मिला होगा। तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। कुछ पूछना हो तो comments में पूछ सकते हैं। इस तरह की और updates के लिए आप notification subscribe कर सकते है।

अन्य लिंक्स :-

Phone Number Ki Location Kaise Pata kare? Phone Track Karne Ka Tarika

Facebook Avatar Kaise banaye?

1 COMMENT

  1. […] Haldi (Turmeric) Ke Fayde aur Upyog In Hindi । हल्दी के… […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here