आप जानते हैं जंक फूड का हमारे जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है।-Effect of Junk Food

213
Effect-of-Junk-Food
Effect-of-Junk-Food

Effect of , ? , schools? ,?

नियमित रूप से जंक फूड खाने से मोटापे और पुरानी बीमारियों जैसे हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह, गैर-मादक वसायुक्त यकृत रोग और कुछ कैंसर का खतरा बढ़ सकता है।

Junk Food क्या है? – ?

हालांकि कई खाद्य पदार्थ स्वादिष्ट और लुभावना होते हैं, लेकिन वे शरीर के लिए बहुत अच्छा नहीं करते हैं लेकिन कई मामलों में हानिकारक प्रभाव भी डालते हैं। इसलिए ऐसे भोजन को जंक फूड कहा जाता है। इसमें बहुत सारा नमक, शर्करा, वसा और पोषक तत्व होते हैं।

उदाहरण: चिप्स, चॉकलेट, विभिन्न फास्ट फूड, तला हुआ और अतिरिक्त तेलयुक्त भोजन, शीतल पेय, आदि।

ये खाने में देखने में काफी दिलचस्प होते हैं जो लगभग सभी उम्र के लोगों को आकर्षित करते हैं। लेकिन इसमें अत्यधिक रसायनों और कृत्रिम रंगों का उपयोग किया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होते हैं।

आप जानते हैं जंक फूड का हमारे जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है।-

Effect-of-Junk-Food

Junk Food के हानिकारक पहलू – What are the harmful effects of junk food?

वजन बढ़ना –

इन खाद्य पदार्थों में बहुत अधिक चीनी और तेल होता है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है। शरीर में वसा का संचय। रोजाना की व्यस्तता के कारण हम बहुत कम शारीरिक व्यायाम करते हैं। नतीजतन, अतिरिक्त चर्बी हमारे शरीर में जमा हो जाती है और मोटापे की ओर ले जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले 40 वर्षों में मोटापे की दर लगभग दस गुना बढ़ गई है।

त्वचा की विभिन्न समस्याओं को बढ़ाएँ –

फास्ट फूड मूल रूप से बासी भोजन है। इन्हें खेलने से त्वचा की विभिन्न समस्याएं हो सकती हैं जैसे त्वचा की ताजगी का कम होना। वसायुक्त भोजन करने से मुंह शुष्क और खुरदरा हो जाता है। त्वचा की अन्य समस्याओं में मुंहासे, एलर्जी आदि शामिल हैं।

शरीर को स्वस्थ रखने और शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों को बनाए रखने के लिए हमें जंक फूड से बचना चाहिए और संतुलित आहार पर ध्यान देना चाहिए। ध्यान रखें कि जंक फूड कितना भी लुभावना और स्वादिष्ट क्यों न हो, यह शारीरिक और मानसिक नुकसान के अलावा कुछ नहीं करता है। इसलिए इन खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।

बच्चे के विकास में बाधाएं ‍-

व्यस्त कार्यक्रम के कारण कई माता-पिता अपने बच्चों के लिए घर पर स्वस्थ भोजन नहीं बना पाते हैं। इससे बच्चे फास्ट फूड के अधिक आदी हो जाते हैं। मोहक और सहज उपलब्ध होने के कारण भी ये व्यसन बढ़ जाते हैं। जंक फूड या फास्ट फूड में आयरन की कमी होती है। नतीजतन, ऐसे खाद्य पदार्थ मस्तिष्क के विकास में मदद नहीं करते हैं, बल्कि उस प्रक्रिया को रोकते हैं। मस्तिष्क में नए न्यूरॉन्स के निर्माण को रोकता है।

अन्य लिंक्स :-

कॉफी पीने के स्वास्थ्य लाभ और जोखिम – Health Benefits And Risks Of Coffee

Locked SD Card ko Unlock or Recover kaise kare?

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here