व्यक्तित्व विकास के 9 ज़बरदस्त आइडियाज Best Personality Development Ideas

460
Personality Development
Personality Development

आज हम लेख में व्यक्तित्व विकास के 9 ज़बरदस्त आइडियाज () हिंदी में बताने वाले हैं। अभी आपके मन में कई सवाल आ रहे होंगे। जैसे ,How to develop a good आदि। आज हम आपको इसी विषय के बारे में बताते हैं। जो एक बहुत ही जरुरी विषय हैं। इसका आपके करियर में बहुत महत्व हैं। आप अपने व्यक्तित्व का विकास करके जीवन में बहुत आगे जा सकते हैं।

Personality क्या है? (What is Personality?):-

यह आपको दूसरों से अलग करता है। आप क्या पसंद करेंगे,आपका काम करने का तरीका और व्यवहार भी इससे निर्धारित होता है। किसी व्यक्ति का personality उनके चिन्तन,चरित्र ,व्यवहार ,दृष्टिकोण और अन्य आदतों की विशेषताओं का कुल योग हैं। इन सब को मिलाकर ही व्यक्तित्व बनता हैं । इसके अलावा, यह सामाजिक पसंद के साथ-साथ मनोवैज्ञानिक झुकाव को भी प्रभावित करता है। आइये जानते हैं की आप अपने व्यक्तित्व विकास के लिए क्या कर सकते हैं।

की परिभाषा क्या है? ):-

किसी के विश्वास को बढ़ाना और भाषा बोलने की क्षमता को मजबूत करना। उसके अनुभव को व्यापक बनाना, कुछ रुचियों या प्रतिभाओं को उभारना। अच्छा शिष्टाचार प्राप्त करना, अच्छे सलीके से कपड़े पहनना। उसकी बोल और चाल में आकर्षण लाना। सकारात्मकता सोच का विकास करना ही Personality Development की परिभाषा है। Personality development जीवन में स्वयं को बेहतर बनाने और संवारने की प्रक्रिया है।

व्यक्तित्व विकास का मतलब है अपने दृष्टिकोण, राय, झुकाव और अन्य अद्वितीय व्यवहार को विकसित करना जिससे की खुद की एक सकारात्मक सामजिक छवि का निर्माण हो। समाज में खुद का चतुर और तर्कशील होना जरुरी हैं। इसमें आपके व्यक्तित्व भी बहुत ही अहम् होता हैं।यह आपके सपनों की नौकरी पाने में आपकी मदद कर सकता है।

व्यक्तित्व विकास के 9 ज़बरदस्त आइडियाज (Best Personality Development Ideas Hindi) :-

1.अपने ऊपर आत्मविश्वास रखें :-

भगवान भी उसी का मदद करता हैं , जो अपनी मदद खुद करता हैं। आपने ये कहावत बहुत बार सुना होगा। आत्मविश्वास ही Personality development की कुंजी है। अगर किसी कार्य को आपकी जरुरत हैं। तो उसे अपना सर्वश्रेष्ठ दें। प्रेरक विचार खुद में भरें और खुद पर भरोसा रखकर मेहनत करे। आपको कार्य में सफलता जरूर मिलेगी।

अपने ऊपर विश्वास करना ही पहला कदम है अपने व्यक्तित्व विकास के लिए। कभी भी अपनी काबिलियत पर शक ना करे। काम करने की प्रेरणा दुसरो से ले। और खुद पर आत्मविश्वास रखकर कार्य करे। जैसा हम सोचते हैं हमारी मानसिकता भी वैसे ही बनती हैं। हम तो बस यही कहेगे , मन के हारे हार है और मन के जीते जीत।

2. अच्छे सलीके से पोशाक पहनना :-

आप जीवन में किसी के अच्छे सलीके से कपड़े पहनना से बहुत प्रभावित होते हैं। यह आपको आत्मविश्वास में वृद्धि करता है। सम्मानजनक तरीके से पोशाक पहनें। अपने रहन -सहन के प्रति सजग रहें। यह आपकी प्रतिभा और क्षमताओं से ऊपर नहीं हो सकता हैं। लेकिन इससे आपके व्यक्तित्व में चार चाँद लगते हैं। जैसे अच्छी तरह से इस्त्री किए गए कपड़े पहनना ,देखने में खिचाव पैदा करता हैं। व्यक्तित्व विकास में छोटी छोटी बातें भी अहम् होती हैं।

3. हर समय सीखने को तैयार रहना :-

सीखने की कोई उम्र नहीं होती हैं। आप हमेशा सीखने को तैयार रहे। जंहा से भी और जिस से भी कुछ अच्छा मिले , शीख लो। हमेशा खुले दिमाग से सोचें और दूसरों की बात को ध्यान से सुनें। अपने अंदर ये अंहकार न आने दे की आप सब जानते हैं। जिस दिन आप सीखना बंद करते है। उसी दिन से आपके व्यक्तित्व का विकास रुक जाता हैं।इसलिए हमेशा सीखने को तैयार रहना हैं।

4. बॉडी लैंग्वेज को सुधारे :-Personality Development

दुनिया में काम करने का एक तरीका होता हैं। जैसे खाने का ,चलने का ,पहनने का ,बात करने का और उठने -बैठने का आदि। इन सबका आपके व्यक्तित्व के विकास में बहुत योगदान होता हैं। व्यक्तिगत विकास के लिए शारीरिक भाषा में सुधार लाना बहुत आवश्यक है। जैसे किसी से बात करते समय आँख से आँख मिलकर बात करना। किसी के सामने ठीक ढंग से बढ़ना। खाते समय सलीका रखना आदि। इसके अतिरिक्त बात करते समय अपने सिर को सीधा और अपनी रीढ़ को सीधा रखें। बात करते समय एक शांत रुख बनाकर रखे।

5. विनम्र आचरण करना :-Personality Development

समाज में विनम्र आचरण और उदारता को सभी पसंद करते हैं। इसलिए अपने आचरण में विनम्रता और उदारता रखे। यह आपके व्यक्तित्व के विकास के लिए जरुरी हैं। अहंकार से दूर रहे। अहंकार करने वालो को कोई पसंद नहीं करता हैं। अपने से बड़ो को सम्मान दे। छोटो से प्यार करे। हम उम्र से प्रेम से बात करें। आपका आचरण ही समाज में आपको ऊंचा स्थान दिलाता हैं।

6. सकारात्मक सोच रखे :-

किसी काम को करने और उसे किस प्रकार किया जाये। ये आपकी सोच पर निर्भर रहता हैं। जीवन में सुख दुःख आते रहते हैं। सकारात्मक सोच वाले लोग कभी विचलित नहीं होते हैं।सकारात्मक विचार वाले लोग सदा आत्मविश्वास से भरे रहते हैं। इसलिए हमेशा सकारात्मक सोचे। और दुसरो को भी सकारात्मक राय दे। इसके परिणाम स्वरूप आप हमेशा आत्मविश्वास से भरपूर रहेंगे।

7. अच्छा श्रोता बने :-

आपसे जब भी कोई बात करे,उनकी बातों को ध्यान से सुनें। सामने वाले को यही लगाना चाहिए की आप उनकी बातो को समझ रहे हैं। बात करते समय अपने सिर को सीधा रखे। और सामने वाले की आँखों में आखे डालकर बात करे। दूसरे की बात समझकर ही उसका उतर दे। एक अच्छा श्रोता बनना व्यक्तित्व को विकसित करने में एक महत्वपूर्ण कदम है।

8 प्रैक्टिस करते रहे :-

किसी काम को करने में माहिर होने के लिए उसका प्रैक्टिस करते रहना जरुरी होता हैं। करत करत अभयास के जड़मति होत सुजान , रस्सी आवत जात के सील पर पडत निशान। कोई भी काम जिसे आपको करना हैं। उसका प्रैक्टिस करे और उसमे निपुणता हासिल करे। किसी कौशल को विकसित करने के लिए व्यक्ति का निरतर अभ्यास करना जरूरी है।

9 हमेशा खुश रहें :-Personality Development

हमेशा खुद भी हँसे और दुसरो को भी हंसाये। इससे आप भी खुश रहेंगे और दूसरे भी आप से खुश रहेंगे।आपको जो भी मिला उसके लिए भगवान को धन्यवाद दे। इससे आपके आपके व्यक्तित्व में निखार आता हैं। यह आपको दूसरों से अधिक शक्तिशाली और अच्छी तरह से सूचित करने में भी मदद करता है।

अन्य लिंक्स :-

शारीरिक व्यायाम का महत्व Importance Of Physical Exercise Essay In Hindi

How to know if someone blocked you on Snapchat?

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here